जमुऑंव के संत निराला बाबा

जमुऑंव गाँव (थाना- पीरो, जिला- भोजपुर) के लोग बहुते धारमिक  सोभाव के ह। जब से हम होस सम्हरले बानी तबे से देखतानी कि एह गाँव में पूजा-पाठ, हरकीरतन आ जग उग के आयोजन लगातार होत आ रहल बा। एह गाँव में साधुजी लोगन के बड़ा बढ़िऑं जमावड़ा भी होखत रहेला। मंदिर आ देवस्थानन से त गाँव भरल परल बा। कालीमाई, बड़की मठिया, छोटकी मठिया, संकरजी, जगसाला, सुरुज मंदिर, सतीदाई, बर्हम बाबा, उमेदी बाबा, गोरेया बाबा, पहाड़ी बाबा–। बात 1975 – 76 के आसपास के होई। बड़का पोखरा से पचीस-तीस डेग…

Read More

देंह फागुन महीना हमार भइल बा

जहिए से नैना दु से चार भइल बा, इंतजार में मजा बेसुमार भइल बा I   पह फाटल हिया में अंजोर हो गइल, पाँख में जोस के भरमार भइल बा I   जाल बंधन के तहस नहस हो गइल, संउसे धरती आ अम्बर भइल बा I   पूस के दिन बीतल बसंत आ गइल, देंह फागुन महीना हमार भइल बा I   महुआ फुलाइल आम मोजरा गइल, हमरा दिल में नसा बरियार भइल बा I   डॉ. हरेश्वर राय, सतना, मध्य प्रदेश  

Read More