राम रावण के नवका लडाई

रवनवा राम जी के लगे आइल उनका गोडे प गिर गइल कहलस – ‘देखीं ! अब हमरा आ रउरा में कवनो टसल नइखे रहि गइल एगो सीता जी रहली त ऊ धरती में समा गइली अब उनकर कवनो मामला बचल नइखे रहल सवाल राज काज के त हम रउरे पालिसी के कायल हो गइल बानी अब हमरो रउरे रसता प चलेके बा जनता खातिर जियेके बा जनता खातिर मरेके बा!   देखीं राउरो उमिर हो गइल! एतना दिन ले लोग खातिर जीअनी ह मुअनी ह दिन के दिन ना बुझलीं…

Read More