चिठ्ठी

“Ravi sir, there is a letter for you” “रवि सर, तहरा खातिर चिठ्ठी बा” कहत चपरासी रवि के सेक्शन में दाखिल भईल। चिठ्ठी के नाम सुन जेतना अचरज रवि के भईल ओतने उनके सहकर्मी कुल के। आजु के जमाना में भी चिठ्ठी भेजे ला केहू। रवि के भी निमन से याद रहे कि बरसो से उनका के केहू चिठ्ठी नईखे भेजले। चपरासी के हाथ में चिठ्ठी के लम्बाई से देख के ही उ समझ गईले कि इ विदेशी चिठ्ठी ह अउरी हाथ में लेते ही ओयिपर मोट लिखावट से उनका…

Read More