कृष्ण जनम

जनम लिहले कन्हैया कि बाजेला बधाईया अँगनवा-दुअरिया नू हो। अरे माई, दुआरा पर नाचेला पँवरिया कि अइले दुखहरिया नू हो।। बिहसे ला सकल जहान कि अइले भगवान कि होई अब बिहान नू हो। अरे माई, हियरा में असरा बा जागल झुमेला नगरिया नू हो।। गरजि-चमकि मेघ बरसेले दरस के तरसेले मनवा में हरसे नू हो। अरे माई, जुग-जुग जियें नंदलाल कि आँखि के पुतरिया नू हो।। देखि के जमुना धधा गइली अउरी अगरा गइली कान्ह पर लुभइली नू हो। अरे माई, साँवरी सुरत मनभावन हटे ना नजरिया नू हो।।

Read More

ई त समय के हs संयोग।।

कइले बाटे घात कुठहरा समय-समय पर लोग। ई त समय के हs संयोग।। लोगवा के मतिया के गतिया कबो समझ ना आवे अपने जनमल अपने माई के बेर-बेर लात देखावे कइसे पीर पराई भाई भाषा के धइलस कइसन रोग। ई त समय के हs संयोग।।   आपन-आपन राग अलापे एक्के महतारी के पूत एक्के मंजिल पर डगर अलग बा बने सभे अवदूत केहू करे सन्मान भाव से करेला केहू उपभोग। ई त समय के हs संयोग।।   अपना-अपना दमभर लोगवा निशदिन जोर लगावे भोजपुरी भाषा अबहिन ले तबहूँ त मान…

Read More