घरे-घर खुशियां मनाव,दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव,दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव, बात अब ई फइलाव

धरा बचावे खातिर बबुआ,अब त तू आगे आव

अब ना छोड़ बम पटाखा, कीरिया आज उठाव

दुखियन के गले लगाव… दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव……….

ना खाएब ,मेवा मिठाई, ना खाएब बाजार के

आपन घरे बनाएब आज,रोकब भ्रष्टाचार के

बिजली के खूब बचाव… दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव………..

दीन दुखी गरीब के साथे, बाटंम खुशियां दू चार

जेतना संभव होई भइया, देहब हम लार दुलार

बूढवन के गले लगाव… दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव………..

लाल बिहारी लाल के जग में ई हे बा पैगाम

आपन जिंनगी गैर के खातिर क दिहले निलाम

जग में कवनो दुखिया के हंसाव.. दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव……..

 

  • लाल बिहारी लाल

सचिव-लाल कला मंच,नई दिल्ली

फोन 7042663073

Related posts

Leave a Comment