पढे दे

ए माई तनका पढ़े  दे,

हमरो के आगा बढ़े दे ।

 

बान्ह के टाई गरदन में

जूता   मोजा   पहिरा  दे,

पीठ प झोड़ा लटका के

भाई जस  बस प चढ़ा दे,

 

ईश्वरे नू बनवले बारें

 

बेफिकिर हो मनभर बड़े दे

ए माई तनका पढ़े दे ,

हमरो के आगा बढ़े दे ।

 

जाए दे ना स्कूल में

हंसे बोले के सीखे दे,

खेल-कूदेम मनभर

नाच गान सीखे दे ।

लइके  आगे बढीहें,

चेटी के उपर चढ़े दे।

ए माई तनका पढ़े दे,

हमरो के आगा बढ़े दे ।

 

हमरे जस रहलूस

तेहूं केहू के जाई,

खुद ना पढले त् का

मत  रोक  पढ़ाई ।

मोका एकऽ देके देख

नाम रोशन करे  दे,

ए माई तनका पढ़े दे

हमरो  के आगा बढ़े दे ।

 

घर में बइठाई के

निर्बल जनी बनाव,

बनी जाए दे सबल

करेला खुद बचाव ।

सही बेरा बा इहे

 

आखाड़ा में लड़े दे,

ए माई तनका पढ़े दे,

हमरो के आगा बढ़े दे ।

 

दिलीप कुमार पाण्डेय

सैखोवाघाट

तिनसुकिया

असम।

 

Related posts

Leave a Comment