देहिया रही टनाटन

देहिया रही टना-टन, करी योग राजा जी

रउआ रहब निरोग, करी योग राजा जी

दू के चार बनावे खातिर ,रउआ रहिले लागल

खान-पान पर ध्यान ना दिहि,मन में पईसा जागल

लागल जवानी में ,2 बुढ़ापा वाला रोग राजा जी

देहिया रही टना-टन, करी…………

पईसा तनिका कम कमाई , सेहत तनी बनाई

सोना अईसन काया के, चम-चम चमकाई

करी काया के सुख 2 खूब भोग राजा जी

देहिया रही टना-टन, करी…………

लाल बिहारी करस निहोरा ,करके देखी योग

अमल करीं रोज रउवा ,रहब तब निरोग

फायदा जन–जन में फईलाई 2 लिहि लोग राजा जी

देहिया रही टना-टन, करी…………

 

  • लाल बिहारी लाल

 

Related posts

Leave a Comment