दामोदराचारी मिश्रा जी के 4 गो अनूदित कविता

एमाण्डा लवलेस अमरीकी महिला कवयित्री हई। इनकरा गुडरिड्स पोएट ऑफ द ईयर खातिर नामित कईल गईल रहे। ईहाँ के वूमेन आर सम काइंड ऑफ मैजिक सीरीज के लेखिका हइ।
एमाण्डा के कुछ कविता के भोजपुरी अनुवाद उपलब्ध बा। मूल कविता के हिंदी में अनुवाद राजेश  चन्द्र के बाटे। श्री राजेश चन्द्र के हिंदी अनुवाद से एकरा के भोजपुरी में कईल बा
मार द ओह दानवन के
——————-
होशियार रहिहs
ओह लइकन से
जवन बोलेलs सन हमेशा
आधा साँच
काहे से कि ओकनी के
हमेशा रहिहs सन
प्यार में आधा
तहरा साथे।
एगो युद्ध जवन हम कबो लड़ल नइखीं चाहत
————————————–
अगर
प्यार
युद्ध के एगो मैदान होईत,
त हम
शर्तिया भूल जइतीं
सगरी असलहा आपन
घरवे पर ही।
उ जे कबो भी हमार साथ ना छोड़िहें 
——————————
हम कबो ना
सोचले रहनी कि
मौत
हमार सबसे अधिक
वफ़ादार साथिन होई,
लेकिन उहे त बा
अकेला
जे चली आई
कबो भी
बतवले बिना ही।
ओह पंखन के ज़रूरत ओकरा कबो ना रहे
————————————
राजकुमारी
छलांग लगा दीहली
मीनार से
अउर उ सीखली
कि उहो
उड़ ही सकेली
सबकर साथ-साथ।
© अनुवाद :
श्री दामोदराचारी मिश्रा,
सिवान में जन्म, बीएचयू से स्नातक, परास्नातक (इतिहास),
साहित्य, सिनेमा, अनुवाद और लोक संस्कृति में अभिरुचि।
विदेशी रचनाकारन के कविता के भोजपुरी अनुवाद में विशेष रुचि।

Related posts

Leave a Comment