कुछ दिन के बाद

सूरत पर सीरत भारी बा,

पता चलल कुछ दिन के बाद..

 

हम कबो कमजोर ना रही,

दिल टूटल कुछ दिन के बाद..

 

जीत, हार, नाफा, नुकसान,

सब मिलल कुछ दिन के बाद…

 

रिश्ता नाता खूब निभवलीं,

गांठ परल कुछ दिन के बाद…

 

नाच नचवलस समय रे! भाई,

भाग जागल कुछ दिन के बाद…

 

सांझ सवेरे कलम चलवनी,

नाम छपल कुछ दिन के बाद…

 

आग लगाके गईल डी.के,

धुआँ उठल कुछ दिन के बाद…

 

 

डी.के सिंह( गीतकार) ✍

Related posts

Leave a Comment